Blog

21
Nov

मस्तनाथ विश्वविद्यालय में प्रदर्शनी का लोकार्पण किया महंत बाबा बालक नाथ योगी

 

21
Nov

Rubru Baba Balak Nath Yogi -SKY CHANNEL NETWORK ,HANUMANGARH

   

5
Nov

Some memorable shadow pictures of Baba Masnath Math

27
Oct

बाबा मस्तनाथ जीवन गाथा व चमत्कार

     

16
Oct

अस्थलबोहर मठ के महन्त बालक नाथ योगी मठ की पुरानी परंपराओं का निर्वहन करते हुए बोहर गांव में पहुंचे। महंत..

अस्थलबोहर मठ के महन्त बालक नाथ योगी मठ की पुरानी परंपराओं का निर्वहन करते हुए बोहर गांव में पहुंचे। महंत…   रोहतक | अस्थलबोहर मठ के महन्त बालक नाथ योगी मठ की पुरानी परंपराओं का निर्वहन करते हुए बोहर गांव में पहुंचे। महंत सबसे पहले मंढाला जोहड़ पर हवन-यज्ञ में शामिल हुए। हवन के बाद गांव के बीच बनी बाबा

Read more

6
Oct

जब भगवान् शंकर नंदी पर नाचे

   

5
Oct

महन्त योगी बालकनाथ ने कहा

  महन्त योगी बालकनाथ ने कहा कि मेरे पूजनीय गुरु जी द्वारा अपने 32 वर्ष के महन्त कार्यकाल में जो कार्य समाज के लिए या शिक्षा क्षेत्र में किए गए उन्हें पूरा करने के लिए ३२ जन्म भी कम हैं। उन्होंने सदैव हमें प्रेरणा देते हुए कहा कि बादल तभी तक काले हैं जब तक इनके पास पानी भरा रहता

Read more

5
Oct

स्वयं की कमियों को ज्ञान मार्ग द्वारा ही खण्डित करो-योगी आदित्य नाथ

स्वयं की कमियों को ज्ञान मार्ग द्वारा ही खण्डित करो-योगी आदित्य नाथ बाबा मस्तनाथ विश्वविद्यालय में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री का विशेष व्याख्यान्   युवा प्रत्येक रूप से सक्षम होता है, मजबूती के साथ-साथ दृढ़ संकल्प और अपने भीतर छिपी असीम शक्ति का परिचायक बनकर वह शिवाजी रूप में समाज का मार्ग दिखाता है तो अर्जुन बनकर धर्मयुद्ध का महारथी

Read more

5
Oct

इंसान (मनुष्य) तीन तरह के होते हैं

एक तालाब में तीन मछलियाँ बड़े प्यार से रहती थी। एक दिन उस तालाब के किनारे कुछ मछुआरें आए और आपस में कहने लगे- अरे! यहाँ पर तो कई मछलियाँ दिखाई दे रही है? कल यहाँ आकर जाल डालते हैं। मछलियों ने उनकी बातें सुनी और चिंता में पड़ गई। तीनों में से पहली मछली बोली- अरे! हम यहीं पर

Read more

28
Sep

महंत बालक नाथ योगी चादर रस्म की झलकियाँ

???????????????????????????????????? ???????????????????????????????????? ???????????????????????????????????? ???????????????????????????????????? ???????????????????????????????????? ???????????????????????????????????? ???????????????????????????????????? ???????????????????????????????????? ???????????????????????????????????? ???????????????????????????????????? ???????????????????????????????????? ???????????????????????????????????? ???????????????????????????????????? ????????????????????????????????????