अस्थलबोहर मठ के महन्त बालक नाथ योगी मठ की पुरानी परंपराओं का निर्वहन करते हुए बोहर गांव में पहुंचे। महंत..

अस्थलबोहर मठ के महन्त बालक नाथ योगी मठ की पुरानी परंपराओं

का निर्वहन करते हुए बोहर गांव में पहुंचे। महंत…

 

रोहतक | अस्थलबोहर मठ के महन्त बालक नाथ योगी मठ की पुरानी परंपराओं का निर्वहन करते हुए बोहर गांव में पहुंचे। महंत सबसे पहले मंढाला जोहड़ पर हवन-यज्ञ में शामिल हुए।

हवन के बाद गांव के बीच बनी बाबा की धौली चौपाल में पहुंचे, जहां पर गांव की ओर से महंत बालक नाथ, दादरी कपूरी पहाड़ी से आए बाबा कृष्ण नाथ, गंगानगर राजस्थान से आए बाबा कृष्णनाथ मराठा और खड़ेसरी बाबा लक्ष्मणनाथ और कुलपति डॉ. मारकंडेय आहूजा का जोरदार भव्य स्वागत किया गया। नान्दल खाप प्रधान ओमप्रकाश ने डॉ. सौभाग्यवती नान्दल द्वारा लिखित बाबा मस्तनाथ चरित्रम् रणपत मान धाता के जीवन चरित्र पर लिखित पुस्तकें और कंबल भेंट किया। गांव की ओर से बाबा मस्तनाथ विश्वविद्यालय में पढ़ाई के लिए 5 प्रतिशत दाखिला सीट गांव बोहर के लिए आरक्षित करने की मांग की। मंच संचालन कृष्ण नान्दल ठेकेदार ने किया।इस अवसर पर नांदल खाप प्रधान ओमप्रकाश नांदल, पूर्व प्रधान महेन्द्र सिंह नान्दल, बलराज नान्दल, मा. देवराज नान्दल, जुगनू नान्दल, रमेश नान्दल, एडवोकेट नरेन्द्र सिंह, पूर्व सरपंच महा सिंह, नरेन्द्र नान्दल, अजयपाल सरपंच, एडवोकेट विकास नांदल, डॉ. सुरेश कोषाध्यक्ष, धर्मबीर नान्दल, बनी सिंह नान्दल आदि मौजूद रहे।

रोहतक. बोहरमें बाबा बालकनाथ का स्वागत करते हुए ग्रामीण।

इन्हें भी देखे: